पंजाब के बिजली मंत्री हरभजन सिंह ने PSPCL के 2 क्लर्कों को किया निलंबित, क्या है पूरा मामला

0
225
PSPCL के 2 क्लर्क निलंबित, जानें क्या है पूरा मामला
PSPCL के 2 क्लर्क निलंबित, जानें क्या है पूरा मामला

PSPCL: पंजाब के बिजली मंत्री हरभजन सिंह ई.टी.ओ ने दो क्लर्कों को निलंबित कर दिया है और एक सहायक राजस्व लेखाकार के खिलाफ विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही की जा रही है जबकि पंजाब स्टेट पावर कारपोरेशन लिमटिड (PSPCL) के उप मंडल दफ्तर शहरी समराला में 2.74 लाख रुपये का वित्तीय घोटाला सामने आया है।

PSPCL के 2 क्लर्क निलंबित, जानें क्या है पूरा मामला
PSPCL के 2 क्लर्क निलंबित, जानें क्या है पूरा मामला

PSPCL के 2 क्लर्क निलंबित

बिजली मंत्री ने बताया कि उप मंडल कार्यालय शहरी समराला में तैनात इन दो क्लर्क और एक राजस्व लेखाकार ने उपभोक्ताओं को गलत रीडिंग के बिल जारी करके PSPCL के राजस्व को नुकसान पहुँचाया। पी.एस.पी.सी.एल. ने मुस्तैदी से कार्यवाही करते हुए उक्त कर्मचारियों से मिली हुई राशि भी जमा कर दी है।

बिजली मंत्री ने बताया कि दोनों क्लर्कों को पीएसपीसीएल कर्मचारी सजा और अपील के रैगूलेशन 1971 के विनियम 4 1 के अनुसार तत्काल निलंबित कर दिया गया है। दोनों कर्मचारियों का निलंबन समय हैड क्वार्टर अतिरिक्त निगरान इंजीनियर मंडल श्री आनंदपुर साहिब तय किया गया है, उन्होंने कहा। उस सहायक राजस्व लेखाकार के खिलाफ विभागीय अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है, उन्होंने बताया।

बिजली मंत्री हरभजन सिंह ई. टी. ओ. ने कहा कि पंजाब सरकार ने लोगों पर महंगाई का बोझ कम करने के लिए 300 यूनिट प्रति महीना बिजली मुफ्त देने की व्यवस्था की है. उन्होंने कहा कि इस व्यक्ति ने उपभोक्ताओं को गलत रीडिंग बिल जारी करके PSPCL को राजस्व का नुकसान पहुंचाया है।

उनका कहना था कि पंजाब सरकार, मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व में, राज्य में भ्रष्टाचार को नष्ट करने के लिए प्रतिबद्ध है और भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दिलचस्प खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे

यूट्यूब चैनल पर शॉर्ट्स देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

पंजाब में और क्या चल रहा है – यहाँ से क्लिक कर के जाने